Home

Welcome to Beti Bachao Beti Padhao Hindi Portal

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Scheme) से जुडी इस वेबसाइट के माध्यम से आप BBBP योजना से जुडी कोई भी जानकारी हिंदी में प्राप्त कर सकते है। अगर आप बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना से जुड़े लाभ (Beti Bachao Beti Padhao Scheme Benefits) ऑनलाइन फॉर्म अथवा ऑफलाइन फॉर्म प्रक्रिया फिर योजना से संबंधित अन्य जानकारी को हिंदी में जानना चाहते है तो आप इस वेबसाइट के विभिन्न लेख पढ़ कर जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Our Mission (हमारा लक्ष्य)

हमारा उद्शेय आप सभी को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) से अवगत करना है ताकि आप योजना से जुडी हर जानकारी हिंदी में और अधिक सरल तरिके से प्राप्त कर सके। योजना से जुड़े किसी भी प्रकार के प्रशन को बेझिझक कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते है। हमारी तरफ से हमेशा कोशिश रहेगी की आप सभी को आपके प्रश्नो के उत्तर जल्द से जल्द सरल भाषा में दे सके ताकि भारत सरकार द्वारा चलाई गयी इस मुहीम में आप सब भी अपना योगदान दे सके व योजना के लक्ष्य प्राप्ती के लिए सरकार की इस कोशिश के भागीदार बन सके।

About Beti Bachao Beti Padhao Scheme

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (Beti Bachao Beti Padhao) Save the daughter, Educate the daughter भारत सरकार के द्वारा चलाया गया एक अभियान है जिसका मुख्य उद्देश्य भारत में लड़कियों के जन्म और उनकी शिक्षा के लिए जागरूकता पैदा करना है। यह योजना 100 करोड़ की प्रारंभिक निधि के साथ शुरू की गई थी। यह रोजाना मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, बिहार और दिल्ली में लड़कियों की स्थिति को देखते हुए शुरू की गयी। ये प्रदेश इस योजना के अंतर्गंत मुख्य रूप से लक्षित है।

भारत में जनगणना के आंकड़ों के अनुसार, भारत में 2001 में बाल लिंगानुपात (0-6 वर्ष) प्रति 1,000 लड़कों पर 927 लड़कियों का था, जो 2011 में प्रति 1,000 लड़कों पर 918 लड़कियों पर गिर गया। 2012 की यूनिसेफ की रिपोर्ट के अनुसार 195 देशों में भारत को 41 वें स्थान पर रखा गया। 2011 की जनसंख्या जनगणना में यह पता चला था कि भारत का जनसंख्या अनुपात 2011 में प्रति 1000 पुरुषों पर 919 महिलाएं हैं। लिंग अनुपात 2011 में जनगणना 2001 के आंकड़ों से गिरावट देखी गई है।

2014 में, बालिका के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर बोलते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कन्या भ्रूण हत्या के उन्मूलन के लिए और भारत के नागरिकों से MyGov.in पोर्टल के माध्यम से सुझाव आमंत्रित किए थे।

बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना (BBBP Yojana) को 22 जनवरी 2015 को  माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हरियाणा के पानीपत जिले से शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य गिरते हुए बाल लिंगानुपात (सीएसआर) के मुद्दे को संबोधित करना है और यह महिला और बाल विकास मंत्रालय, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से एक राष्ट्रीय पहल है। इसने शुरू में देश भर के 100 जिलों में मल्टी-सेक्टर एक्शन पर ध्यान केंद्रित किया, जहां कम सीएसआर था और बाद में अनेक अभियान चलाकर योजना को देश के सभी राज्यों तक पहुँचाया गया ताकि अधिक से अधिक लोग जागरूक हो सके।

26 अगस्त 2016 को, रियो ओलंपिक 2016 की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक को बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana -BBBP) के लिए ब्रांड एंबेसडर बनाया गया।

हैशटैग #SelfieWithDaughter को जून 2015 में सोशल मीडिया पर प्रमोट किया गया था, जो तब शुरू हुआ जब सुनील जगलान ने गांव बीबीपुर के सरपंच, हरियाणा के जींद में अपनी बेटी नंदिनी के साथ एक सेल्फी ली और 9 जून 2015 को फेसबुक पर पोस्ट किया। हैशटैग ने दुनिया भर में प्रसिद्धि पाई। बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) के प्रति लोगो में जागरूकता फ़ैलाने के लिए भारत सरकार अनेक मुहीम और अभियान चलाती रही है और चला भी रही है।

*यह वेबसाइट योजना की अधिकारिक वेबसाइट नहीं है, इस वेबसाइट का मूल उद्शेय आपको भारत सरकार द्वारा लागू योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के बारे में जानकारी देना है।